नकवी ने अमेरिकी राजदूत से कहा, भारत अल्पसंख्यकों के लिए स्वर्ग

नई दिल्ली, 30 अक्टूबर (आईएएनएस)| अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अमेरिकी राजदूत सैमुअल ब्राउनबैक से बुधवार को अपनी बैठक के दौरान कहा कि भारत अल्पसंख्यकों के लिए स्वर्ग है, जिनके अधिकार देश में पूरी तरह सुरक्षित हैं। नकवी ने घंटे भर चली बैठक के दौरान ब्राउनबैक व उनके प्रतिनिधिमंडल को सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के लिए चलाई जा रही विभिन्न सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तीकरण व कौशल विकास की योजनाओं के बारे में सूचित किया।

मंत्री ने छात्रवृत्ति कार्यक्रम के विवरण को साझा किया, खास तौर से जो लड़कियों के शैक्षिक सशक्तीकरण के लिए हैं।


उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के प्रयासों की वजह से अल्पसंख्यकों के बीच स्कूल ड्रॉपआउट रेट घटकर 35 फीसदी पर आ चुकी है, जो 2014 में 70 फीसदी से ज्यादा थी।

नकवी ने कहा, “हम इसे शून्य फीसदी पर लाने के लिए काम कर रहे हैं।”

सूत्रों ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने अल्पसंख्यकों की उन्नति के लिए मोदी सरकार के कार्यक्रमों की सराहना की।


नकवी ने कहा कि सांप्रदायिक सौहार्द व सहिष्णुता भारत के बहुसंख्यक समुदाय के डीएनए में है और अल्पसंख्यकों के सामाजिक, धार्मिक व संवैधानिक अधिकार देश में पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like