पाकिस्‍तान ने बीच राह में रोकी समझौता एक्‍सप्रेस, यात्रियों को लाने इंजन और गार्ड भेज रहा भारत

पाकिस्‍तान ने बीच राह में रोकी समझौता एक्‍सप्रेस, यात्रियों को लाने इंजन और गार्ड भेज रहा भारत

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) के हटाए जाने से पाकिस्‍तान (Pakistan) बौखलाया हुआ है। भारत के लिए एयरस्पेस बंद करने के बाद पाकिस्तान (Paksitan) ने एक और कदम उठाते हुए समझौता एक्‍सप्रेस (Samjhauta Express) को बीच रास्ते में रोक दिया है। पाकिस्तान ने अपने ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) के साथ भेजने से मना कर दिया है। पाकिस्‍तान के इस कदम से अटारी बॉर्डर पर सैंकड़ों यात्री फंस गए हैं।

गुरुवार दोपहर को पाकिस्तान की ओर इस संबंध में अटारी रेलवे स्‍टेशन को सूचना दी गयी कि वह फिलहाल समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) की सेवा को रोक रहा है। पाक ने कहा कि भारतीय रेल अपने ड्राइवर और क्रू मेंबर को भेजकर समझौता एक्सप्रेस को पाकिस्‍तान से ले जाएं। रेलवे के अनुसार, कुल 110 यात्रियों को पाकिस्तान से भारत आना है और 70 लोगों को यहां से उस तरफ जाना है। ऐसे में भारत ने इस समस्या को हल करने के लिए ट्रेन और इंजन भेजने का फैसला किया है।


पाकिस्तान ने भारतीय विमानों के लिए 3 वायु मार्ग बंद किए, बढ़ जाएगा यात्रा का समय

अटारी अंतर्राष्ट्रीय रेलवे स्टेशन के सुपरिंटेंडेंट अरविंद कुमार गुप्ता ने बताया कि आज पाकिस्तान से समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) को भारत आना था, लेकिन इस दौरान पाकिस्तान से मैसेज आया कि भारतीय रेल अपने ड्राइवर और क्रू मेंबर को भेजकर समझौता एक्सप्रेस को ले जाए। उन्होंने बताया की पाकिस्तानी रेलवे ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते यह बात कही।

वहीं नॉर्थ रेलवे के CPRO दीपक कुमार का कहना है कि समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) को सस्पेंड नहीं किया गया है, ट्रेन चलती रहेगी। पाकिस्तान ने सुरक्षा की वजह से कुछ चिंताएं जाहिर की हैं और कहा है कि वह अपना गार्ड और क्रू नहीं भेजेगा। भारत ने पाकिस्तान को बताया है कि इस ओर हालात पूरी तरह से सामान्य हैं। इसलिए भारत की तरफ से अपना इंजन और गार्ड वाघा बॉर्डर तक भेज रहे हैं जो वहां से अटारी तक ट्रेन लाएगा।


बता दें, समझौता एक्सप्रेस सप्ताह के दो दिन दिल्ली और अटारी से पाकिस्तान के लाहौर के बीच चलती है। यह ट्रेन दोनों देशों के बीच हुए शिमला समझौते के बाद 22 जुलाई 1976 को शुरू हुई थी। पहली ट्रेन अमृतसर से खुली थी और करीब 52 किलोमीटर दूरी तय करते हुए लाहौर पहुंची थी।

धारा 370 को लेकर सरकार के फैसले पर जम्मू-कश्मीर के पहले गवर्नर कर्ण सिंह क्या बोले?

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पाकिस्तान (Paksitan) लगातार अपनी बौखलाहट दिखा रहा है। बीते दो दिनों से पाकिस्तानी संसद में इस मसले पर बवाल मचा हुआ है। पाकिस्तान इस मसले को लेकर संयुक्त राष्ट्र भी पहुंचा है। इसके अलावा पाकिस्‍तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंध स्थगित करने का फैसला लिया है और भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को पाकिस्‍तान छोड़ने के लिए कहा। पाकिस्‍तान ने अपने 9 में से 3 एयरस्‍पेस भारत के लिए बंद करने का फैसला लिया है। साथ ही भारत की फिल्मों को पाकिस्तान के सिनेमाघरों में दिखाने पर भी पाबंदी लगा दी है।

धारा 370 पर आज रात आठ बजे देश को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)