रायपुर: मजदूरों की प्यास बुझाने के लिए सिख युवकों ने दिखाया जज़्बा, बाइक से खींचकर ले गए पानी का टैंकर

रायपुर: मजदूरों की प्यास बुझाने के लिए सिख युवकों ने दिखाया जज़्बा, बाइक से खींचकर ले गए पानी का टैंकर

कोरोना महामारी के चलते लागू लॉकडाउन के बीच देश के कई हिस्सों से प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है। पिछले कुछ दिनों में हमने पलायन की काफी दर्दनाक तस्वीरें देखी हैं। इस बीच कई जगह संवेदना और सहानुभूति से भरे लोगों द्वारा श्रमिकों को मदद पहुंचाने की कहानी सामने आई है। ऐसी ही एक कहानी छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की है। पिछले दिनों रायपुर के टाटीबंद चौक के पास कुछ सिख युवकों ने प्रवासी मजदूरों की प्यास मिटाने के लिए ग़ज़ब का जज़्बा दिखाया है। गुरुद्वारा सेवा समिति के सदस्य रात के समय बाइक से खींचकर पानी का टैंकर ले जाते दिखे।

इस घटना का वीडियो वायरल हो गया है। वीडियो पिछले गुरुवार रात 3 बजे का है। इस वीडियो में 2 सिख युवक 3 हजार लीटर पानी से भरे टैंकर को कभी बाइक तो कभी हाथों से खींचते दिखाई देते हैं।



जानकारी के मुताबिक, गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात 3 बजे झारखंड के लगभग 200 श्रमिक भूखे प्यासे टाटीबंद चौक पहुंचे थे। यहां खाने की व्यवस्था तो थी पर पानी खत्म हो गया था, रात को और कोई उपाय नहीं सूझा तो कुछ सिख युवकों ने तीन किलोमीटर दूर पंप से पानी भरने की ठानी और ट्रैक्टर नहीं मिल पाने पर बाइक में टेंकर को बांधकर निकल पड़े। हाइवे पर वाहनों के बीच कड़ी मशक्कत के साथ भरा हुआ पानी का टैंकर लेकर वापस पहुंचे। जिसके बाद सुबह तक पानी की कोई परेशानी नहीं हुई।

बता दें कि रायपुर के टाटीबंद चौक में हर दिन हजारों की संख्या में श्रमिक पहुंच रहे हैं। यहां गुरुद्वारा सेवा समिति और जिला प्रशासन की ओर से खाने की व्यवस्था की गई है। वीडियो वायरल होने के बाद लोग सिख सेवादारों की जमकर तारीफ कर रहे हैं।


बुंदेलखंड : गुजरात से छत्तीसगढ़ जा रहा ट्रक पलटा, 20 प्रवासी मजदूर घायल

छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल की बड़ी पहल, दिया सीएम राहत कोष का ब्यौरा

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)