शिवसेना ने अर्थव्यवस्था पर कहा, ‘इतना सन्नाटा क्यों है भाई’

मुंबई, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)| प्रसिद्ध फिल्म शोले के संवाद, “इतना सन्नाटा क्यों है भाई” का जिक्र करते हुए सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना ने सोमवार को आर्थिक मंदी की जबर्दस्त आलोचना की और कहा कि ‘इस साल के मंद दीवाली समारोह से यह स्पष्ट है।’ महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन के लिए कठिन बातचीत के दौर से पहले शिवसेना ने भाजपा पर संवेदनशील बिंदुओं पर नए सिरे से हमले शुरू किए हैं, जिसमें नोटबंदी, वस्तु एवं सेवा कर और राष्ट्र की अर्थव्यवस्था पर असर डालने वाली मंदी शामिल है।

शिवसेना ने अपने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ और ‘दोपहर का सामना’ के संपादकीय में चेताया है, “इस साल की दीवाली से पटाखों की धूम-धड़ाका गायब है। हर जगह बिक्री में 30-40 फीसदी की कमी अई है। इतना सन्नाटा क्यों है भाई? देश आर्थिक संकट का सामना कर रहा है..भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत सुधरने के बजाय बिगड़ रही है।”


शिवसेना ने कहा, “केंद्र की माई-बाप सरकार का कहना है कि वह किसानों की आय दोगुना कर देगी, लेकिन कुछ या अन्य प्राकृतिक आपदाएं उन्हें सूखे या बाढ़ के रूप में प्रभावित कर रही हैं। नोटबंदी, जीएसटी की वजह से फैक्टरियों पर संकट है, उद्योग व व्यापार बंद हो रहे हैं, रोजगार सृजन बुरी तरह से प्रभावित है, यहां तक कि बैंक दिवालिया होने जा रहे हैं।”

 


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like