कोरोना का कहर: योगी सरकार का बड़ा फैसला, नोएडा और लखनऊ समेत यूपी के 15 जिले पूरी तरह सील

यूपी में 30 जून तक रहेगा लॉकडाउन, अनलॉक-1 लिए नई गाइडलाइन जारी, जानिए क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। वहीं कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलता देख यूपी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए राज्य के 15 जिलों को पूरी तरह से सील कर दिया है। इन 15 जिलों में राजधानी लखनऊ, आगरा, नोएडा और गाजियाबाद के साथ वे सभी जिले शामिल हैं जहां लगातार जमातियों या उनके संपर्क में आए लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। जानकारी के अनुसार बुधवार रात 12 बजे के बाद यह आदेश लागू माना जाएगा।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आगरा, शामली, मेरठ, बरेली, कानपुर, वाराणसी, लखनऊ, बस्ती, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, महाराजगंज, सीतापुर, बुलंदशहर, फिरोजाबाद और नोएडा को पूरी तरह से सील करने का फैसला किया है। यूपी के मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने इस बात की पुष्टि की है।


उन्होंने कहा कि इन सभी जिलों के सारे घरों को सेनेटाइज किया जाएगा और यहां आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति होम डिलिवरी के जरिए की जाएगी। आपको बता दें कि ये सभी जिले कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। सूत्रों के मुताबिक, यूपी सरकार 13 अप्रैल को स्थिति की समीक्षा करेगी, उसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा।

दुकान जाने पर भी होगी पाबंदी

सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। यहां तक कि लोगों के दुकानों पर भी जाने पर बैन रहेगा, जिनके पास कर्फ्यू पास होगा, सिर्फ वही सड़क पर निकल पाएंगे। साथ ही इन जिलों में केवल उन्हीं वाहनों की एंट्री होगी जिनके पास वैध पास होंगे। इसी के साथ यह भी आदेश‌ दिया गया है कि 30 अप्रैल तक कोई भी बिना मास्क लगाए अपने घरों से बाहर नहीं निकल सकेगा। वहीं 31 मई तक कोई बैंक किसी किसान को नोटिस नहीं जारी करेगा।

बता दें इससे पहले बुधवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी टीम 11 (11 समितयां) की बैठक में कई अहम आदेश दिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य और पुलिसकर्मियों का ध्यान रखा जाए। सीएम ने इस दौरान पूरे यूपी को सैनिटाइज करने पर भी जोर दिया। उन्होने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए। उन्होंने गरीबों को समय से राशन वितरित करने और इसकी मॉनीटरिंग करने का निर्देश दिया। इस दौरान सीएम ने प्रदेश के साथ ही जिले की टीम 11 की रिपोर्ट पर भी अपडेट लिया। सीएम ने इस दौरान तबलीगी जमात से जुड़े लोगों पर कार्रवाई का सिलसिला जारी रखने का निर्देश दिया।



यूपी में 15 बंदर मरे, लोगों का शक कोरोनावायरस पर

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)