उपेंद्र कुशवाहा ने UPA से तोड़ा नाता, BSP के साथ मिलकर बनाएंगे तीसरा मोर्चा

  • Follow Newsd Hindi On  
Upendra Kushwaha broke ties with UPA

पूर्व केंद्रीय मंत्री और रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra kushwaha) ने यूपीए से अलग होने का ऐलान कर दिया है। उपेंद्र कुशवाहा बिहार चुनाव के लिए बीएसपी और वीआईपी पार्टी के साथ मिलकर तीसरा मोर्चा बनाएंगे। यूपीए से मोहभंग होने के बाद उपेंद्र कुशवाहा, एनडीए के भी संपर्क में थे, लेकिन सीटों के बंटवारे पर सहमति नहीं बन पाई।

अब उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा और बीएसपी (BSP) के बीच बिहार में एक और गठबंधन होने जा रहा है। इस नए गठबंधन का नेतृत्व उपेंद्र कुशवाहा करेंगे। आरएलएसपी सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने एनडीए (NDA) में शामिल होने की चर्चाओं पर भी विराम लगाते हुए तीसरे मोर्चे के गठन की घोषणा की है।


उपेंद्र कुशवाहा बिहार चुनाव (Bihar Election) में यूपी की पूर्व सीएम मायावती के बीएसपी के साथ मिलकर चुनावी मैदान में उतरेंगे। महागठबंधन में सीट बंटवारे से उपेंद्र कुशवाहा काफी समय से नाराज चल रहे थे। कई बार उन्होंने तेजस्वी यादव से मुलाकात कर सीटों के बंटवारे पर स्थिति साफ करने की कोशिश भी की लेकिन कोई बात नहीं बन पाई।

आखिरकार बाद उपेंद्र कुशवाहा ने अंत में महागठबंधन से नाता तोड़ अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया। पूर्व में केंद्रीय मंत्री रह चुके उपेंद्र कुशवाहा को 2007 में नीतीश कुमार के जेडीयू से बर्खास्त कर दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने फरबरी, 2009 में अपनी पार्टी राष्ट्रीय समता पार्टी का गठन किया था।

साल 2009 के नवंबर में ही पार्टी का जेडीयू में विलय हो गया। 2013 में उन्होंने नीतीश सरकार पर विकास नहीं करने का आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। जेडीयू से अलग होने के बाद उन्होंने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का गठन किया और 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए घटक दल के तौर पर चुनाव लड़ा।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)