वेनेजुएला : मादुरो ईयू समर्थित संपर्क समूह के प्रतिनिधियों से मिलने को तैयार

वेनेजुएला : मादुरो ईयू समर्थित संपर्क समूह के प्रतिनिधियों से मिलने को तैयार

काराकस, 9 फरवरी (आईएएनएस)|  वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने यूरोपीय संघ (ईयू) समर्थित वेनेजुएला पर अंतर्राष्ट्रीय संपर्क समूह की निंदा की है, लेकिन उन्होंने कहा है कि वह इसके प्रतिनिधियों से मिलने के लिए तैयार हैं। जबकि देश के स्वघोषित राष्ट्राध्यक्ष जुआन ग्वाइदो ने कहा है कि अगर मौजूदा राष्ट्रपति अंतर्राष्ट्रीय सहायता रोक देते हैं तो उनके समर्थक एक मानवीय गलियारा बनाने के लिए तैयार हैं। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, मादुरो ने राष्ट्रपति आवास में शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मैं संपर्क समूह के किसी भी दूत का स्वागत करने को तैयार हूं। हालांकि, उन्होंने उस ‘पक्षपातपूर्ण, वैचारिक’ चश्मे को खारिज कर दिया, जिसके जरिए इसके सदस्य तेल समृद्ध राष्ट्र को देखते हैं।

यह संपर्क समूह संवाद और नए राष्ट्रपति चुनाव के जरिए वेनेजुएला के राजनीतिक और आर्थिक संकट का हल चाहता है। इसमें जर्मनी, ब्रिटेन, स्पेन व फ्रांस और कुछ लैटिन अमेरिकी देश जैसे उरुग्वे, इक्वाडोर और कोस्टा रिका शामिल हैं।


मेक्सिको ने मोंटेवीडियो में गुरुवार को समूह की उद्घाटन बैठक में भाग लिया, लेकिन वेनेजुएला में नए राष्ट्रपति चुनाव का आह्वान करने वाले एक बयान पर हस्ताक्षर नहीं किया।

वामपंथी नेतृत्व वाले बोलीविया ने भी वेनेजुएला में मध्यावधि राष्ट्रपति चुनाव का समर्थन करने से इनकार कर दिया।

अमेरिका, कनाडा, कई लैटिन अमेरिकी देश और प्रमुख यूरोपीय शक्तियां सभी मादुरो की मई 2018 के चुनाव में फिर से हुई जीत को हेराफेरी से हासिल की गई जीत मानते हैं और उन्होंने विपक्षी नियंत्रण वाले नेशनल असेंबली के अध्यक्ष ग्वाइदो को अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दी है।


ग्वाइदो ने शुक्रवार को काराकास में सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ वेनेजुएला में संबोधन के दौरान कहा कि अगर मादुरो पड़ोसी कोलंबिया से मानवीय सहायता वाले जहाज को प्रवेश करने से रोकना जारी रखते हैं तो विपक्ष एक गलियारा बनाने के लिए जुटेगा, ताकि सहायता वेनेजुएला तक पहुंच सके।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)