Happy Navratri 2020: नवरात्रि में नौ दिनों में अलग-अलग रंगों का क्या है अर्थ, जानें नाम और महत्व

Happy Navratri 2020: नवरात्रि में नौ दिनों में अलग-अलग रंगों का क्या है अर्थ, जानें नाम और महत्व

आज अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से 25 मार्च 2020 तारीख है और साथ ही आज से हिंदू नव वर्ष का पहला साल विक्रम संवत 2077 है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार विक्रम संवत का पहला मास चैत्र होता है। इस महीने की शुरुआत नवरात्रों से की जाती है। चैत्र माह के पहले दिन मां दुर्गा के नौ रूपों में से पहले रूप की पूजा की जाती है। इस माह में लगातार नौ दिनों तक दुर्गा मां अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। 

चैत्र मास के पहले दिन सभी हिंदू दुर्गा मां की आराधना करते हैं। यह पूजा नौ दिनों तक 9 अलग-अलग रंगों के कपडे़ पहनकर की जाती है। हिंदू पंरपरा के मुताबिक, इन नौ रंगों का शास्त्रों में भी विशेष महत्व बताया गया है। ऐसे में आपको पता होना चाहिए इन 9 रंगों का क्या महत्व और इनके क्या नाम है आइए जानते हैं। 


1.नवरात्रि के पहले दिन पीले रंग का महत्व

हिंदू शास्त्रों के अनुसार, नवरात्र‍ि का पहला दिन मां शैलपुत्री की आराधना का दिन होता है। मां शैलपुत्री का पसंदीदा रंग पीला है, जो कि उल्लास, साहस और शक्ति का रंग माना जाता है। 

2.नवरात्रि के दूसरे दिन हरे रंग का महत्व 

शास्त्रों के मुताबिक, नवरात्र‍ि का दूसरा दिन, मां ब्रम्हचारिणी की आराधना के लिए विशेष दिन होता है। मां ब्रम्हचारिणी, कुंडलिनी जागरण हेतु शक्ति प्रदान करती हैं। मां ब्रम्हचारिणी को हरा रंग अत्यंत प्रिय है।

3.नवरात्रि के तीसरे दिन ग्रे रंग का महत्व 

नवरात्रि के दिन ग्रे रंग का महत्व होता है। तृतीयं चंद्रघंटेती, अर्थात नवरात्र‍ि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की आराधना की जाती है। माना जाता है कि इस दिन ग्रे रंग का प्रयोग कर मां की कृपा एवं सुख शांति प्राप्त की जा सकती है।


4.नवरात्रि के चौथे दिन नारंगी रंग का महत्व 

मां दुर्गा के कुष्मांडा स्वरूप का पूजन नवरात्र‍ि के चौथे दिन किया जाता है। नारंगी रंग के वस्त्रों को पहनकर पूजा की जाती है। कहा जाता है कि रोगों को दूर कर, धन, यश की प्राप्ति के लिए आप मां कुष्मांडा की पूजा की जाती है।

5.नवरात्रि के पांचवे दिन सफेद रंग का महत्व

नवरात्र‍ि के पांचवे दिन मां स्कंदमाता की आराधना के लिए समर्पित है। मां स्कंदमाता सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री देवी है, अत: इनका पसंदीदा रंग भी सफेद है।

6.नवरात्रि के छठे दिन लाल रंग का महत्व

हिंदू मान्ताओं के अनुसार, नवरात्र‍ि का छठा दिन यानि मां दुर्गा के कात्यायनी स्वरूप की आराधना का दिन। ऋषि कात्यायन की पुत्री मां कात्यायनी को लाल रंग प्रिय है।

7.नवरात्रि का सातवां दिन अर्थात सप्तमी नीले रंग का महत्व

नवरात्रि के सातवें दिन अर्थात सप्तमी तिथि को मां कलरात्र‍ि की आराधना की जाती है। मां कालरात्र‍ि का पसंदीदा रंग नीला है। इस दिन के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।

8.नवरात्रि का आठवां दिन अर्थात अष्टमी गुलाबी रंग का महत्व

नवरात्र‍ि की अष्टमी तिथि, महागौरी का समर्पित है। मां महागौरी  भक्तों में प्रसन्नता का संचार करती हैं। इस दिन गुलाबी रंग का प्रयोग बेहद शुभ माना जाता है। इस के कपड़े पहनने से मां दुर्गा प्रसन्न  होती हैं।

9.नवरात्रि का नौवां दिन अर्थात नवमी बैंगनी रंग का महत्व

हिंदू मान्यताओं के अनुसार नवमी वाले दिन मां दुर्गा के सिद्धीदात्री स्वरूप का पूजन होता है। मां सिद्धीदात्री के पूजन में भी आप  बैंगनी रंग का उपयोग कर सकते हैं। इस दिन ये रंग शुभ माना जाता है।


Navratri 2020: 25 मार्च से शुरू है चैत्रीय नवरात्रि, ये है पूरी दुर्गा मां की पूजा और घट-स्थापना की विधि

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)