TikTok vs Youtube: 4.7 से घटकर 2 हुई टिकटॉक की रेटिंग, जानें यूजर्स क्यों कर रहे बैन लगाने की मांग

TikTok vs Youtube: 4.7 से घटकर 2 हुई टिकटॉक की रेटिंग, जानें यूजर्स क्यों कर रहे बैन लगाने की मांग

शॉर्ट विडियो मेकिंग के लिए मशहूर प्लेटफॉर्म TikTok को लेकर पिछले कुछ दिनों से विवाद शुरू हो गया है। अप्रैल के आखिरी तक पूरी दुनिया में इसके 2 बिलियन से ज्‍यादा यूजर्स थे। लेकिन अब गूगल प्ले स्टोर पर TikTok की यूजर्स रेटिंग कुछ ही दिनों में घटकर 2 पर आ गई है। कुछ दिन पहले तक प्ले स्टोर पर TikTok की रेटिंग 4.6 थी और देखते ही देखते यह कम होकर 2 पर पहुंच गई है। वहीं ट्विटर यूजर्स का एक धड़ा लगातार इसपर बैन लगाने की मांग कर रहा है। सोमवार से ही #BanTikToklnlndia ट्विटर पर ट्रेंड हो रहा है। आइये जानते हैं इसके पीछे की वजह:

एसिड अटैक और रेप कल्‍चर का प्रमोशन

पिछले कुछ दिनों में TikTok के विरोध की दो अहम वजहें हैं। एक वजह बना है लड़कियों पर एसिड अटैक को प्रमोट करता एक वीडियो। दरअसल, इस वीडियो में एक लड़का और लड़की एसिड अटैक को प्रमोट कर रहे हैं। यही नहीं, रेप कल्‍चर को भी प्रमोट करता एक TikTok वीडियो वायरल हो रहा है। मामला इतना बढ़ा है कि राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने TikTok को एक लेटर लिखा है।


NCW चीफ रेखा शर्मा ने कहा, “मुझे एक सोशल मीडिया पोस्ट की जानकारी मिली है, जिसमें एक पुरुष, जिसका नाम फैजल सिद्दकी है। उसने एक ऐसा वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें एसिड हमले को महिमामंडित किया गया है। मामले का संज्ञान लेते हुए मैंने महाराष्ट्र में पुलिस महानिदेशक को उस व्यक्ति पर कार्रवाई की मांग करते हुए एक पत्र लिखा है।” उन्‍होंने कहा, “आयोग ने टिकटॉक इंडिया के शिकायत अधिकारी अनुज भाटिया को भी पत्र लिखकर उस वीडियो को तुरंत हटाने के लिए कहा है, साथ ही उस व्यक्ति के आईडी को भी ब्लॉक करने के लिए कहा है।”

Youtube vs TikTok वर्चुअल फाइट

टिकटॉक के पीछे पड़ने की एक और वजह है। दरअसल, पिछले दिनों यूट्यूब और टिकटॉक यूजर्स के बीच वर्चस्व की वर्चुअल फाइट शुरू हुई। अब ढेर सारे इंटरनेट यूजर्स इस लड़ाई में शामिल हो गए हैं। इसकी शुरुआत Youtube vs TikTok वीडियो से हुई है। कैरी मिनाती नामक एक यूट्यूबर की ओर से Youtube vs TikTok: The End नाम से एक वीडियो बनाया गया, जिसमें टिकटॉक यूजर्स को रोस्ट किया गया था। ये वीडियो खूब वायरल हुआ और चंद दिनों में ही सबसे ज्यादा लाइक किया गया इंडियन वीडियो बन गया था। हालांकि, यूट्यूब की ओर से इस वीडियो को यह कहते हुए हटा दिया गया है कि यह कम्युनिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन करता है। माना जा रहा है कि टिकटॉक यूजर्स की ओर से रिपोर्ट किए जाने के बाद वीडियो हटाया गया है।

टिकटॉक को 1 स्टार दे रहे लोग

इसके बाद यूट्यूब और टिकटॉक यूजर्स आमने-सामने आ गए और वर्चुअल फाइट शुरू हो गई। टिकटॉक की रेटिंग अचानक घटने की वजह वर्चुअल वर्ल्ड में चल रही ये फाइट है। ढेरों यूजर्स टिकटॉक को 1 स्टार दे रहे हैं और इसे भारत में बैन तक करने की मांग कर रहे हैं। गूगल प्‍ले स्‍टोर पर ऐप की रेटिंग सोमवार को 3.7 थी जो मंगलवार सुबह तक घटकर 2 पर आ गई। लोगों से ऐप को अनइंस्‍टॉल करने और बैन करने की अपील की जा रही है।


प्ले स्टोर तक पहुंची TikTok vs Youtube की 'जंग', जानें यूजर्स क्यों कर रहे बैन लगाने की मांग

गूगल प्ले स्टोर पर TikTok ऑफिशल ऐप  को करीब 2.42 करोड़ से ज्यादा यूजर्स रेटिंग दे चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा 1 स्टार देने वाले यूजर्स शामिल हैं और ऐप की मौजूदा रेटिंग प्ले स्टोर पर 2 के करीब पहुंच चुकी है। इसी ऐप का लाइट वर्जन TikTok Lite भी प्ले स्टोर पर मौजूद है। इस लाइट ऐप को करीब 7 लाख यूजर्स ने रेटिंग्स दी हैं और इनमें भी सबसे ज्यादा 1 स्टार रेटिंग देने वाले यूजर्स शामिल हैं। Tiktok Lite की मौजूदा रेटिंग 1.1 स्टार हो चुकी है। वहीं, ऐपल ऐप स्टोर पर इसकी रेटिंग 4.8 स्टार है।

वीडियोज पर कई बार हुआ बवाल

अभी कुछ दिन पहले तक TikTok पर कुछ यूजर्स कोरोना को लेकर अफवाहें फैला रहे थे। एक धर्म विशेष की पहचान दिखाकर ये दावा किया जा रहा था कि उन्‍हें कोरोना से कोई खतरा नहीं है। तब भी TikTok के खिलाफ अच्‍छा-खासा माहौल बन गया था। इसके अलावा TikTok पर यह भी आरोप लगे हैं कि वह चीन के खिलाफ कंटेंट को सेंसर कर देता है। साथ ही कुछ लोग यह भी आरोप लगाते हैं कि TikTok के जरिए भारत में ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा दिया जा रहा है।


कैरी मिनाती का ‘यूट्यूब vs टिकटॉक’ वीडियो यूट्यूब से हटाया गया, बिफरे फैंस ने लगाई न्याय की गुहार

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)