जब धोनी को बीच मैदान पर आशीष नेहरा ने दी थी गाली, 15 साल बाद जताया अफसोस

जब धोनी को बीच मैदान पर नेहरा ने दी थी गाली, 15 साल बाद जताया अफसोस

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में काफी क्रिकेट खेला है। वह 2011 वर्ल्ड विजेता टीम का भी हिस्सा रहे और आईपीएल में चेन्नै सुपर किंग्स (CSK) टीम का भी हिस्सा रहे, जिसकी कमान हमेशा ही धोनी के हाथ में रही है। लेकिन, आशीष नेहरा का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर अक्सर वायरल होता रहता है, जिसमें वह धोनी को गाली देते दिख रहे हैं। लेफ्ट आर्म फास्ट बॉलर रहे नेहरा ने 15 साल पुरानी इस गलती पर खेद जताया है।

यह वाकया उन दिनों का है, जब महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान नहीं थे। अभी नए-नए टीम में शामिल हुए थे। हालाँकि, अपने लंबे बालों और लंबे-लंबे छक्के लगाने के लिए धोनी भारतीय टीम में अपनी पहचान गढ़ चुके थे। 2005 में पाकिस्तान की टीम भारत में 6 मैचों की वनडे सीरीज खेल रही थी। उस सीरीज का चौथा वनडे 12 अप्रैल को अहमदाबाद में खेला गया। उस मैच में आशीष नेहरा ने धोनी को गाली दी थी। लेकिन, गाली सुनने के बाद भी धोनी खामोश रहे थे।


नेहरा ने इस वीडियो के पल को याद करते हुए एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘लोग इसे विशाखापत्तनम मैच का वीडियो बता रहे हैं लेकिन मुझे अच्छे से याद है कि यह वीडियो वाइजैग का नहीं बल्कि अहमदाबाद में खेले गए सीरीज के चौथे वनडे मैच का है। यहां शाहिद अफरीदी का एक कैच धोनी और पहली स्लिप में खड़े राहुल द्रविड़ के बीच से निकल चला गया, जिस पर मुझे गुस्सा आ गया था और मैंने यह गलती कर दी।’

आशीष नेहरा ने कहा, ‘इससे पहली गेंद पर आफरीदी ने मेरे ओवर में छक्का जड़ा था। भारत-पाकिस्तान मैच में वैसे ही दबाव होता है और अचानक एक मौका बना तो वो छोड़ दिया गया। मैं खुद पर कंट्रोल नहीं रख सका और ऐसी स्थिति में खिलाड़ी अपनी आपा खो देता है। मेरा वह व्यवहार ठीक नहीं था। मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था। यह मेरे लिए कोई गर्व की बात नहीं थी।’


नेहरा ने आगे कहा, ‘हालांकि, मैच के बाद किसी ने कुछ नहीं कहा, क्योंकि मैच में अक्सर ऐसा हो जाता है। ये वीडियो अब भी इतना पॉपुलर इसलिए है, क्योंकि इसमें धोनी हैं।’

बता दें कि कैच छूटने के बाद आफरीदी ने उस मुकाबले में 23 गेदों में ताबड़तोड़ 40 रन बना डाले थे। आखिरकार लक्ष्मीपति बालाजी उन्हें सचिन के हाथों लपकवाने में कामयाब रहे थे। जबकि नेहरा को उस मैच में एक भी सफलता नहीं मिली। उन्होंने 9 ओवर में 75 रन खर्च कर डाले। भारत ने 315 रन का बड़ा स्कोर खड़ा करने के बावजूद ये मुकाबला तीन विकेट से गंवा दिया और पाकिस्तान ने सीरीज में 2-2 से बराबरी हासिल कर ली थी।

गौरतलब है कि धोनी की कप्तानी में ही आशीष नेहरा ने 2016 टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया में वापसी की थी और इस टूर्नमेंट उनका परफॉर्मेंस शानदार रहा था।


9 साल बाद सचिन का खुलासा- विश्व कप फाइनल में मैंने ही धोनी को ऊपर बल्लेबाजी करने को कहा था

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)