बेंगलुरु: फोन पर बिहारी टोन में बात करने के लिए युवकों से भिड़ा ऑटो ड्राइवर, चाकू मारकर किया घायल

बेंगलुरु: फोन पर बिहारी टोन में बात करने के लिए युवकों से भिड़ा ऑटो ड्राइवर, चाकू मारकर किया घायल

कर्नाटक से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक ऑटो चालक ने दो भाइयों को ज़रा-सी बात पर चाकू मारकर घायल कर दिया। एक पत्रकारिता के छात्र और उसके भाई का कसूर सिर्फ इतना था कि वे अपनी घरेलू (बिहारी) बोली में अपने माता-पिता से फोन पर जोर-जोर से बात कर रहे थे। इसी बात को लेकर उनका आरोपी से झगड़ा हो गया और बात आगे बढ़ी तो ड्राइवर ने उन्हें चाकू मारकर घायल कर दिया। बंदेपालिया पुलिस ने इस मामले में होसापाल्या के मुनेश्वरनगर निवासी ऑटो ड्राइवर मंजूनाथ वाल्मीकि को गिरफ्तार किया है।

श्रवण (बदला हुआ नाम) ने एक मीडिया पोर्टल को बताया कि वह बिहार के मुजफ्फरपुर का रहने वाला है। वह और उसका 22 वर्षीय छोटा भाई, जो कि बीएससी नर्सिंग का छात्र है, किराए के घर में रहते हैं। वह ख़ुद एक काउंसलर की नौकरी करता है। सोमवार को वह मुजफ्फरपुर में अपने माता-पिता से फोन पर बात कर रहा था। पड़ोस में रहने वाला ऑटो ड्रॉवर मंजूनाथ वाल्मीकि, श्रवण को फोन पर बात करते हुए देख रहा था। वह कुछ समय तक मुझे घूरता रहा और जब मैंने उसे नजरअंदाज किया, तो वह मेरे पास आ गया।


श्रवण ने कहा कि वाल्मीकि से दूर जाने के लिए कहा क्योंकि वह अपने पिता से बात कर रहा था। इतने में ऑटो चालक ने उसकी गर्दन पकड़ कर उसे हिला दिया। जब श्रवण ने विरोध किया, तो उसने उसके साथ मारपीट की और चला गया। श्रवण ने अपने मकान मालिक को सूचित करने की कोशिश की, लेकिन जब वह नहीं दिखा, तो उसने अपने भाई से ये बात बताई। श्रवण का दोस्त राजीव भी उस समय उनके घर पर ही था। फिर राजीव के साथ वह वाल्मीकि से बात करने गए कि आखिर उसने ऐसा क्यों किया?

गुस्साया हुआ वाल्मीकि घर से चाकू लेकर आया और श्रवण और उसके भाई की छाती पर वार कर दिया। छुरे के वार से श्रवण के बदन पर 15 सेमी गहरा घाव हो गया था और उसके फेफड़े को भी क्षति पहुंची। श्रवण के भाई के शरीर पर हुआ घाव 7 सेंटीमीटर गहरा था और उसकी एक पसली फ्रैक्चर हो गई। वहीं राजीव को छुरा ठीक से नहीं लगा, जिससे उसे मामूली घाव हुआ। दोनों भाइयों को पांच दिनों के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद उनके माता-पिता ने उन्हें वापस आने के लिए कहा। अब वे अपने गृहनगर जाने की तैयारी कर रहे हैं।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)