चीन और रूस के राष्ट्रपतियों के बीच हुई फोन पर बातचीत

चीन और रूस के राष्ट्रपतियों के बीच हुई फोन पर बातचीत

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ फोन पर बातचीत की। बातचीत में राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन सरकार और चीनी जनता की ओर से 9 मई को सोवियत संघ के देश रक्षा युद्ध में विजय पाने की 75वीं वर्षगांठ पर पुतिन और रूसी जनता को हार्दिक बधाई दी।

शी ने जोर दिया कि द्वितीय विश्व युद्ध मानव जाति के इतिहास में एक बड़ी घटना है। चीन और रूस ने इसके लिए बहुत कुछ न्यौछावर किया है। द्वितीय युद्ध के प्रमुख विजय देश और सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देश होने के नाते चीन और रूस विश्व की शांति व सुरक्षा की रक्षा करने की जिम्मेदारी उठाते हैं।


राष्ट्रपति शी ने यह भी कहा कि हाल में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय कोविड-19 से संघर्ष कर रहा है। राष्ट्रपति पुतिन के नेतृत्व में रूस के रोकथाम कार्य में उपलब्धियां नजर आ रही हैं। विश्वास है कि चीन, रूस और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साझे प्रयास से अवश्य ही वायरस को पराजित करेंगे और कोविड-19 के मुकाबले में अंतिम विजय पा सकेंगे।

वहीं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि रूस चीन के साथ तमाम सामरिक साझेदारी को मजबूत करना चाहता है। रूस चीन के अनुभव से सीखकर चीन के साथ टीके के अध्ययन पर सहयोग करेगा। रूस कोविड-19 के बहाने से चीन की निंदा करने वाली कार्यवाई का विरोध करता है। रूस चीन के साथ खड़ा होकर संपर्क और सहयोग को मजबूत करना चाहता है।


क्या चीन भूराजनीतिक प्रभाव बढ़ा रहा है?


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)