लॉकडाउन में क्रिकेट खेलने हरियाणा पहुंच गए दिल्ली BJP चीफ मनोज तिवारी, सोशल मीडिया पर हुई फजीहत

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी एक बार फिर विवादों में घिरते नज़र आ रहे हैं। कारण है- लॉकडाउन के बीच क्रिकेट खेलने के लिए हरियाणा चले जाना। दरअसल, बीजेपी सांसद मनोज तिवारी रविवार को सोनीपत में एक क्रिकेट एकेडमी के में कार्यक्रम में गए थे। बताया जा रहा है कि संचालकों के बुलावे पर वह गन्नोर में क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे। वहां क्रिकेट होते देख मनोज तिवारी खुद को रोक नहीं पाए और बल्ला थामकर दनादन शॉट लगाने लगे। इसके बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने दिल्ली भाजपा प्रमुख को निशाने पर ले लिया और उनकी खिंचाई शुरू कर दी। उन्हें देश की फ्रिक करने की सलाह तक दे डाली।

तिवारी ने की ताबड़तोड़ बैटिंग, रन भी लुटाये

रिपोर्ट के मुताबिक, स्टेडियम में दो टीमों के बीच होने वाले मैच में मनोज तिवारी ने भी खेलने की इच्छा जाहिर की तो उनको टीम में शामिल किया गया। मैच के आयोजकों ने उनके लिए जर्सी का इंतजाम करवाया। इसके बाद वे हेलमेट और पैड आदि लगाकर क्रीज पर बल्लेबाजी करने के लिए उतर गए। अपनी टीम के लिए पहले बल्लेबाजी करते हुए मनोज तिवारी ने 9 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 67 रन बनाए। वह कैच आउट होकर पॉवेलियन लौट गए और उनकी टीम ने 20 ओवरों में 3 विकेट के नुकसान पर 238 रन जोड़े।


इसके बाद उन्होंने अपनी टीम के लिए गेंदबाजी भी की। उनके तीन ओवरों में विपक्षी टीम ने 40 रन बना डाले और कोई उनको विकेट नहीं मिल सका। हालाँकि उनकी टीम ने विपक्षी टीम को 208 रनों पर ही समेट दिया और मनोज तिवारी की टीम यह मैच 30 रन से जीतने में कामयाब रही।

बता दें कि प्रशासन द्वारा खेल स्टेडियम खोलने की अनुमति दी गई है, लेकिन उसके लिए नियम भी बनाए गए हैं। टीम गेम के लिए प्रशासन ने केवल 18 खिलाड़ियों के ही प्रवेश की अनुमति दी है। जबकि दर्शक स्टेडियम में प्रवेश नहीं कर सकते। लेकिन दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी की उपस्थिति में हुए इस टी-20 मैच में नियमों का भी खुलेआम उल्लंघन हुआ।

मैच में नियमों का हुआ उल्लंघन

पहले तो स्टेडियम में 18 से अधिक खिलाड़ियों ने प्रवेश किया। इसके अलावा स्टेडियम में दर्शक के तौर पर कई व्यक्ति भी मौजूद रहे। मैच में शारीरिक दूरी का भी ध्यान नहीं रखा गया। मैच के दौरान और मैच के बाद भी लोग झुंड में खड़े दिखाई दिए। मनोज तिवारी भी स्टेडियम में शारीरिक दूरी कायम नहीं रख सके। स्टेडियम में अपने संबोधन के दौरान मनोज तिवारी लोगों से घिरे दिखे। वायरल तस्वीरों में वह मास्क आदि भी लगाए हुए नज़र नहीं आए।


पुलिस की इजाजत लेकर गया था: मनोज तिवारी

वहीं, मैच के आयोजक ने मनोज तिवारी के क्रिकेट खेलने पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि मैच के दौरान आईसीसी के नए गाइडलाइन का पूरी तरह पालन किया गया। इतना ही नहीं सरकार के सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी ख्याल रखा गया। मनोज तिवारी ने भी इस मैच को लेकर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि मुकाबले के दौरान सभी नियमों का पालन किया गया। उन्होंने कहा कि यह एक निजी कार्यक्रम था। मैं पुलिस की अनुमति लेकर वहां गया था। मेरे एक परिचित ने अपनी क्रिकेट एकेडमी तैयार की थी, उसे ही देखने और एक फ्रेंडली मैच खेलने के लिए बुलाया था। इसलिए मैं यहां चला आया। मुकाबले के बारे में हरियाणा सरकार और स्थानीय अधिकारियों को जानकारी थी। ग्राउंड पर केवल 20-25 लोग थे।

दूसरी ओर कई लोग आयोजक और बीजेपी नेता की इस सफाई से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। उनके मुताबिक मनोज तिवारी ने वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल बिल्कुल भी नहीं रखा। ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा- ये लोग देश की फिक्र छोड़ मजे मार रहे। वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा- यही काम बचा है भाजपा के सांसद मनोज तिवारी के पास? ये अपने क्षेत्र में जाकर जनता की समस्या क्यूं नहीं देखते? एक यूजर ने कहा- लोगों की मदद नहीं करना है, सिर्फ अपना ऐश करना है।

कई अन्य यूज़र्स ने मनोज तिवारी को आड़े हाथों लिया है।

गन्नौर के एसडीएम स्वप्निल रविंद्र पाटिल ने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण में डीसी की ओर से खेल स्टेडियम खोलने की अनुमति दी जा चुकी है, लेकिन उसके लिए नियम भी बनाए गए हैं। जिनकी अनुपालना की जानी चाहिए। मैच के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। इस बारे में पता कराया जाएगा।


हरियाणा: महिला मित्र के फ्लैट से कूदकर घायल हुए BJP नेता चंद्रप्रकाश कथूरिया 6 साल के लिए निलंबित

पाताल लोक के खिलाफ बीजेपी सांसद ने खोला मोर्चा, सूचना प्रसारण मंत्रालय में की शिकायत

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)