‘देशभक्त गोडसे’ पर प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, कहा- गांधी जी का सम्मान करती हूं

मध्यप्रदेश की राजधानी से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिह ठाकुर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ करार देने के बाद अपने इस बयान के लिए माफी मांग ली है।

आगर-मालवा में गुरुवार को रोड शो करने पहुंचीं प्रज्ञा से जब पत्रकारों ने फिल्म अभिनेता व तमिलनाडु की राजनीति में सक्रिय कमल हासन के गोडसे को लेकर हाल ही में आए बयान पर प्रतिक्रया मांगी तो उन्होंने कहा, “नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें, अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।”


प्रज्ञा के इस बयान पर सियासी भूचाल आने पर शाम होते-होते साध्वी की ओर से जारी बयान में भाजपा प्रवक्ता डॉ. हितेश वाजपेयी ने कहा है कि प्रज्ञा ने अपने उस बयान को न केवल वापस लिया है, बल्कि सभी से क्षमा भी मांग ली है।

प्रज्ञा ठाकुर के ताजा जारी बयान में यह भी कहा गया है कि अब इसके बाद क्या दिग्विजय सिह ‘शांति का मसीहा जाकिर नायक’ वाले अपने बयान को लेकर माफी मांगेंगे? या अभी भी वे उसके ‘एंबेसडर’ के रूप में काम करेंगे?

बयान में आगे कहा गया है, “क्या दिग्विजय सिह और कांग्रेस अभी भी यह मानती है कि अफजल गुरु को भारत के न्यायालय से न्याय नहीं मिला? क्या दिग्विजय सिह अभी भी मानते हैं कि 26/11 की घटना संघ की साजिश थी और कसाब निर्दोष था? इन सब बातों को लेकर कांग्रेस को देश से माफी मांगना चाहिए और अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए।”


इससे पहले, प्रज्ञा से जब एक पत्रकार ने पूछा कि क्या वह नाथूराम गोडसे का समर्थन करती हैं तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। साथ ही ‘भगवा आतंकवाद’ पर पूछे गए सवाल पर भी कुछ नहीं कहा।

भोपाल ससंदीय क्षेत्र में प्रज्ञा ठाकुर का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिह से है। यहां 12 मई को मतदान हो चुका है। लोग परिणाम जानने के लिए 23 मई का इंतजार कर रहे हैं।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)