PMBJP: फ्री में जन-औषधि केन्द्र खोलने का जानें तरीका, इंसेंटिव से अलग इतने पैसे मिलेंगे हर महीने

PMBJP: फ्री में जन-औषधि केन्द्र खोलने का जानें तरीका, इंसेंटिव से अलग इतने पैसे मिलेगे हर महीने

Pradhan Bantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2015 में प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना (PMBJP) की शुरुआत की थी। इस योजना का उद्देश्य लोगों को बेहतर इलाज के लिए बढ़िया क्वालिटि की दवाई उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत जनता को 90 प्रतिशत सस्ती दवाई मिलती है। मोदी सरकार भारत में अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले औषधि दवाओं को बढ़ावा देना चाहती है। मोदी सरकार भारत के हर जिले में इसकी सेवा पहुंचाने में जुटी है। इसलिए सरकार जन औषधि केंद्रों खोलने के लिए लोगों को मौका दे रही है। सरकार इसके लिए 2.5 लाख रुपये की आर्थिक मदद कर रही है।

क्या है प्रधानमंत्री जन औषधि योजना (PMBJP)

भारतीय जनऔषधि परियोजना (PMBJP) भारत सरकार के द्वारा उन लोगों के लिए शुरू की गई है जो कि ज्यादा महंगी दवाइयों का बोझ उठाने में सक्षम नहीं हैं। इस योजना की घोषणा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 जुलाई 2015 को की थी। इस योजना से ना सिर्फ गरीब बल्कि मध्यमवर्ग के परिवारों के लोगों को भी काफी मदद मिलेगी। इस योजना के जरिए लोगों को सस्ती दवाये मुहैया कराई जाती है। ये दवाईयां आप किसी भी ‘जन औषधि केंद्र’ से आसानी से ले सकते हैं। इस योजना के तहत जेनेरिक दवाईयां आम जनता को बेची जाएगी।


जनऔषधी केंद्र खोलने पर मोदी सरकार देगी 2.5 लाख रुपये

भारतीय जनऔषधि परियोजना (PMBJP) केंद्र खोलने पर सरकार 2.5 लाख रुपये देती है। अगर आप बिजनेस करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपके के लिए अच्छा मौका है। इस योजना का फायदा उठाकर आप मुनाफा कमा सकते हैं। जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए कोई भी आवेदन कर सकता है। देशभर में इस समय 5,500 जन औषधि केंद्र हैं जो लोगों 90 फीसदी सस्ती दवाई मुहैया करा रही है। इस योजना की खास बात यह है कि इसे कोई भी खोल सकता है।

भारतीय जनऔषधि परियोजना (PMBJP) केंद्र के तहत 800 प्रकार की दवाएं और 154 सर्जिकल इस्तेमाल होने वाली वस्तुएं उपलब्ध करवाती है।

जनऔषधि परियोजना खोलने पर कितना फायदा होता है?

मोदी सरकार जनऔषधि केंद्र से दवा की बिक्री पर 20 फीसदी पैसा देती है। इसके अलावा हर महीने की बिक्री पर 15 फीसदी इंसेंटिव अलग से मिलता है। इस केंद्र को खोलने के लिए 2.5 लाख रुपये की लागत आती है। इसका खर्चा सरकार खुद उठाती है।


PMBJP केंद्र खोलने के लिए किन डॉक्यूमेंट की जरूरत होती है?

जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आपके पास आधार कार्ड (Aadhaar Card) और पैन कार्ड (Pan Card) होना चाहिए। हालांकि गैर सरकारी संगठन (NGO), फार्मासिस्ट, डॉक्टर, और मेडिकल प्रैक्टिशनर द्वारा जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदन करने पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, संस्था बनाने का सर्टिफिकेट और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट देना जरूरी होगा।

भारतीय जनऔषधि परियोजना (PMBJP) के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस आधिकारिक वेबसाइट janaushadhi.gov.in पर जा सकते हैं।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)