अमेरिका: कॉलेज कंप्यूटरों को खराब करने के जुर्म में भारतीय छात्र को एक साल की सजा, 41 लाख जुर्माना

अमेरिका: कॉलेज कंप्यूटरों को खराब करने के जुर्म में भारतीय छात्र को एक साल की सजा, 41 लाख जुर्माना

अमेरिका के न्यूयॉर्क में भारतीय मूल के एक छात्र को एक कॉलेज में कम्प्यूटरों को जानबूझकर नुकसान पहुंचाने के लिए एक साल की जेल की सजा सुनाई गई है। साथ ही उसकी रिहाई के एक साल बाद तक उसे निगरानी में रखा जाएगा। अमेरिका के अटॉर्नी जनरल ग्रांट सी जैक्विथ ने मंगलवार को बताया कि विश्वनाथ अकुथोटा (Vishwanath Akuthota) को क्षतिपूर्ति के तौर पर 58,471 अमेरिकी डॉलर (करीब 41 लाख 64 हजार रुपये) देने का आदेश दिया गया है।

27 वर्षीय विश्वनाथ अकुथोटा (Vishwanath Akuthota) एक भारतीय नागरिक है और छात्र वीजा पर अमेरिका में रह रहा था। 22 फरवरी को उत्तर कैरोलिना में गिरफ्तारी के बाद से ही वह हिरासत में है। अकुथोटा ने 14 फरवरी को अपना दोष स्वीकार करते हुए कहा कि उसने अल्बाने में ‘कॉलेज ऑफ सेंट रोज’ में 66 कम्प्यूटरों में एक ‘‘यूएसबी किलर’ उपकरण लगाया था। इस उपकरण के कारण कम्प्यूटर प्रणाली को नुकसान पहुंचा था।


बता दें कि ये किलर डिवाइस जब एक कंप्यूटर के यूएसबी पोर्ट में डाला जाता है, तो यह एक कमांड भेजता है जिससे कंप्यूटर के ऑन-बोर्ड कैपेसिटर तेजी से चार्ज होते हैं और फिर बार-बार डिस्चार्ज होते हैं। एक सेकंड में कई बार इस चक्र के दोहराने से ओवरलोडिंग द्वारा होस्ट डिवाइस नष्ट कर दिया जाता है।


हैदराबाद: 100 दिनों तक होटल में की ‘ऐश’, 12 लाख रुपये का बिल चुकाए बगैर फरार हुआ शख्स


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)