कजाकिस्तान : नूरसुल्तान नजरबायेव ने 30 साल बाद छोड़ा राष्ट्रपति पद

कजाकिस्तान : नूरसुल्तान नजरबायेव ने 30 साल बाद छोड़ा राष्ट्रपति पद

मॉस्को | कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव ने तीस साल तक सत्ता में रहने के बाद मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

सोवियत यूनियन से कजाकिस्तान की आजादी के बाद से ही नजरबायेव (78) देश के राष्ट्रपति पद पर रहे। उन्होंने पहले से रिकार्ड किए गए एक टेलीविजन संबोधन में अपने इस्तीफे का ऐलान किया।


नजरबायेव ने अपने चौंकाने वाले संबोधन में कहा, “मैं राष्ट्रपति के रूप में अपनी ड्यूटी को अब समाप्त कर रहा हूं।” उन्होंने कहा कि यह फैसला उनके लिए ‘आसान नहीं रहा।’

नजरबायेव ने कहा कि उनके बचे कार्यकाल तक संसद के ऊपरी सदन के स्पीकर कासिम-जोमार्त तोकाएव कार्यवाहक राष्ट्रपति की भूमिका निभाएंगे।

यह ऐलान नजरबायेव द्वारा कजाकिस्तान सरकार को बर्खास्त करने के कुछ हफ्ते के बाद आया है। उन्होंने अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार नहीं ला पाने के लिए यह कदम उठाया था।


सोवियत संघ के 1991 में विघटन के बाद से इस तेल संपन्न देश पर नजरबायेव की सख्त पकड़ रही। इस बात के अनुमान लगाए जा रहे थे कि नजरबायेव हो सकता है कि राष्ट्रपति पद छोड़ दें लेकिन किसी और तरीके से वह सत्ता पर अपनी पकड़ बरकरार रखेंगे।

नजरबायेव की अधिनायकवादी सत्ता आर्थिक सुधारों के लिए तो जानी जाती है, लेकिन साथ ही विरोधियों की आवाज दबाने और लोकतांत्रिक सुधारों का प्रतिरोध करने के लिए भी जानी जाती रही है।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)