घरेलू यात्री कारों की बिक्री में जुलाई में 36 फीसदी की गिरावट, GST, कम मांग और नकदी की कमी बनी वजह

घरेलू यात्री कारों की बिक्री में जुलाई में 36 फीसदी की गिरावट, GST, कम मांग और नकदी की कमी बनी वजह

नई दिल्ली | घरेलू यात्री कारों की बिक्री में गिरावट जारी है। इस सेगमेंट में जुलाई में 35.95 फीसदी की गिरावट हुई है। उद्योग पर्यवेक्षकों के अनुसार, जीएसटी के कारण उच्च कीमत, कम मांग, पर्याप्त नकदी की कमी से खरीद में कमी आई है।

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चर्स (एसआईएएम) के अनुसार, घरेलू बाजार में यात्री कारों की बिक्री जुलाई 2018 में बेची गई 191,979 यूनिट से घटकर 122,956 यूनिट रह गई है।


यात्री वाहनों के अन्य उप-खंडों में भारत में बेचे जाने वाले उपयोगिता वाहनों की संख्या जुलाई 2019 में 15.22 फीसदी घटकर 67,030 यूनिट रह गई, जबकि 10,804 वैन पिछले महीने बेची गईं, जो 2018 के इसी महीने बेचे गए 45.68 फीसदी से कम है।

कुल मिलाकर यात्री वाहन की बिक्री जुलाई में 30.98 फीसदी गिरी।


वैश्विक मंदी बस आने ही वाली है : मार्गन स्टेनले


अर्थशास्त्रियों को अमेरिका में 2020 में मंदी की आशंका : रिपोर्ट

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)