रिपब्लिक टीवी के एंकर अर्णब गोस्वामी के खिलाफ छत्तीसगढ़ में केस दर्ज, राहुल गांधी के बयान को गलत तरीके से पेश करने का आरोप

रिपब्लिक टीवी एंकर अर्णब गोस्वामी के खिलाफ छत्तीसगढ़ में केस दर्ज

रिपब्लिक टीवी चैनल के प्रमुख और एंकर अर्णब गोस्वामी (Arnab Goswami) के खिलाफ छत्तीसगढ़ में कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। बताया जा रहा कि COVID-19 पर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान को गलत ढंग से प्रस्तुत करने के लिए अर्णब गोस्वामी के खिलाफ ये शिकायतें मंगलवार को दर्ज की गई हैं। खबरों के मुताबिक, राज्य के 12 जिलों में अर्णब के खिलाफ शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। इन शिकायतों में अर्णब गोस्वामी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।

अंग्रेजी अख़बार नेशनल हेराल्ड ने सूत्रों के हवाले से बताया कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अर्णब गोस्वामी के खिलाफ राज्य भर में विरोध-प्रदर्शन किया और रायपुर सहित 12 जिलों और ज़ोनल मुख्यालयों में टेलीविजन एंकर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।


कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा दर्ज की गई इन शिकायतों में अर्णब गोस्वामी के खिलाफ तथ्यों से छेड़-छाड़ और गलत बयानी के लिए कार्रवाई की मांग की गई है। उन्होंने भारतीय दंड संहिता (IPC) की विभिन्न धाराओं जैसे 153 बी, 188, 290, 500, 504 और 505 के साथ-साथ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि शिकायत को जल्द ही रोजनामचे में दर्ज कर लिया जाएगा और अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के लिए टीम दिल्ली भी रवाना होगी।

कांग्रेस का कहना है कि राहुल गांधी के कोरोना वायरस को लेकर किए गए पूरी पत्रकार वार्ता को तोड़-मरोड़कर से प्रस्तुत किया और कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में देश के लोगों को गुमराह किया। अर्णब गोस्वामी ने अपने शो में यह बताया कि राहुल गांधी का टेस्ट बढ़ाने का सुझाव पूरी तरीके से गलत है।ऐसे में यदि लोग अर्णब और उनके टीवी चैनल पर भरोसा करके टेस्टिंग को अनावश्यक समझ लेंगे तो इससे देश के करोड़ों लोगों के स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ेगा।


छत्तीसगढ़ कांग्रेस के मीडिया प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने नेशनल हेराल्ड को बताया कि अर्णब ने COVID-19 पर राहुल गांधी के बयान को गलत तरीके से पेश करके देश को गुमराह किया है। इसीलिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शिकायत दर्ज की हैं।

बता दें कि राहुल गांधी ने 16 अप्रैल को अपनी प्रेस-वार्ता में कहा था कि लॉकडाउन समाधान नहीं है, बल्कि COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में एक पॉज बटन है। कोरोना के खिलाफ जंग में मोदी सरकार का समर्थन करते हुए राहुल ने कहा था कि इसके लिए हमें आक्रामक रूप से टेस्टिंग करने की जरूरत है।

त्रिवेदी ने कहा, “हालांकि, गोस्वामी ने अपने प्राइम टाइम शो में तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया और अप्रासंगिक संदर्भों में राहुल के बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया।” उन्होंने कहा, “अर्णब गोस्वामी और समाचार चैनलों पर आने वाले उनके जैसे एंकरों की वजह से ही इस घोर महामारी के समय अपने जीवन को खतरे में डालकर काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों और डॉक्टरों पर जानलेवा हमले होते हैं।”

अर्नब गोस्वामी के शो को देखने से पता चलता है कि उन्होंने न केवल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम बहस में बिना किसी संदर्भ के लाया, बल्कि बार-बार और जानबूझकर इटली को उनका देश बताया। उन्हें वीडियो में भारत और इटली के बीच अप्रासंगिक तुलना करते सुना जा सकता है।

गौरतलब है कि अर्णब गोस्वमी पिछले दिनों तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने अपने लाइव शो के दौरान एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से अपने इस्तीफे का ऐलान किया। उन्होंने पालघर मॉब लिंचिंग की कवरेज को लेकर वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता पर संस्था की साख गिराने का आरोप भी मढ़ा।


महाराष्ट्र: ‘टाइम्स नाउ’ ने मंत्री की बेटी के बारे में दिखाई थी झूठी खबर, गृहमंत्री ने दिए कार्रवाई के आदेश

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)