नए साल में रेल का सफर हुआ महंगा: प्रति किलोमीटर इतना बढ़ा किराया, आज से लागू

लॉकडाउन: ऑटिज्म से पीड़ित बच्चे की मदद के लिए आगे आया रेलवे, 1900 किलोमीटर दूर पहुंचाया ऊंटनी का दूध

नई दिल्ली | देशभर के यात्रियों को झटका देते हुए भारतीय रेलवे ने मंगलवार को यात्री किराया बढ़ाने की घोषणा की है। बढ़ा किराया नए साल के पहले दिन से लागू होगा।

रेलवे ने स्लीपर क्लास के लिए यात्री किराए में दो पैसे प्रति किलोमीटर और 3एसी, 2एसी और एसी प्रथम श्रेणी में चार पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की है। मंगलवार को जारी कमर्शियल सर्कुलर में कहा गया है कि यह बढ़ा हुआ किराया 1 जनवरी 2020 से लागू होगा।


राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने सकरुलर में कहा कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास के लिए यात्री किराए में दो पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है। वहीं 3एसी, 2एसी और एसी प्रथम श्रेणी में चार पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की है। रेलवे ने पैसेंजर ट्रेनों के लिए भी किराए में बढ़ोतरी करते हुए एक पैसा प्रति किलोमिटर की वृद्धि की है।

इसमें यह भी कहा गया है कि राजधानी, शताब्दी, हमसफर, वंदे भारत, दुरंतो, राज्य रानी, महानमा, गतिमान, गरीबरथ, जन शताब्दी, युवा और सुविधा एक्सप्रेस जैसी प्रीमियम ट्रेनों के किराए को भी अधिसूचित किराया तालिका के अनुसार उपरोक्त प्रस्तावित वृद्धि की सीमा तक संशोधित किया जाएगा।


सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट सरचार्ज आदि में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। साथ ही 1 जनवरी 2020 से पहले बुक किए गए टिकटों पर किराए का अंतर यात्रियों से नहीं लिया जाएगा।

स्लीपर क्लास में यात्री किराए में वृद्धि का मतलब है कि नई दिल्ली से पटना तक की 997 किलोमीटर की दूरी के लिए यात्रियों को अब प्रति टिकट लगभग 20 रुपये का अतरिक्त भुगतान करना होगा। एसी कोचों के लिए यात्रियों को समान दूरी के लिए 40 रुपये अधिक चुकाने होंगे।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)