‘पाकिस्तान के हिंदू नेताओं ने कश्मीर पर भारत के फैसले की निंदा की’

कराची, 12 अगस्त (आईएएनएस)| पाकिस्तान के सिंध प्रांत के हिंदू नेताओं ने जम्मू एवं कश्मीर के विशेष दर्जे में बदलाव के भारत सरकार के फैसले को खारिज करते हुए इसकी निंदा की है। पाकिस्तानी मीडिया ने यह जानकारी दी। ‘द न्यूज इंटरनेशनल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, सिंध के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हरिराम किशोरी लाल, सिंध के मुख्यमंत्री के विशेष सहायक डॉ. खाटूमल जीवन, वीरजी कोल्ही, सांसद डॉ. महेश मलानी और सिंध के विधायक राणा हमीर सिंह ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा कि ‘वे कश्मीरी भाइयों के उचित संघर्ष में उनके साथ हैं।’

इन नेताओं का कहना है कि भारत ने दक्षिण एशिया को गंभीर स्थिति की तरफ धकेल दिया है। उन्होंने कहा कि सिंध के हिंदू अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए कोई भी बलिदान करने को तैयार हैं।


रिपोर्ट में कहा गया है कि हिंदू नेताओं ने कहा कि ‘कश्मीर एक विवादित क्षेत्र है और भारत सरकार को इसके विशेष दर्जे में बदलाव का कोई हक नहीं है।’ उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने भारत की धर्मनिरपेक्ष विचारधारा को दफन कर दिया है।

सिंध के इन हिंदू नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और मानवाधिकार संगठनों से ‘कश्मीर में हो रहे जुल्म का संज्ञान लेने का’ आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हिंदू समुदाय देश के स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को कश्मीरियों के समर्थन में राज्यभर में रैलियां निकालेगा। मंदिरों के बाहर पाकिस्तान और कश्मीर के झंडे फहराए जाएंगे।

 


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)