टिकटॉक का भारत सरकार को जवाब, कहा-हम चीन के साथ नहीं साझा करते कोई भी जानकारी

TikTok India head responds to Govt ban says it does not share data of Indian users with China

सोमवार को भारत सरकार ने टिकटॉक (Tiktok), हेलो, शेयरइट और ब्यूटी प्लस जैसी कई लोकप्रिय समेत कुल 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया। भारत सरकार के इस फैसल के बाद सोशल मीडिया में कई तरह की आवाज सुनाई दे रही है। कुछ लोग इसके खिलाफ हैं तो कुछ समर्थन कर रहे हैं।

लोगों को सबसे अधिक खुशी और दुख टिकटॉक (Tiktok) बैन को लेकर हुआ।  इस बीच टिकटॉक इंडिया के हेड निखिल (Nikhil) ने प्रतिबंध पर जवाब देते हुए कहा है कि हम सरकार के आदेश का पालन करेगे और संबंधित सरकारी हितधारकों के साथ मिलकर जवाब देने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का अवसर प्रदान करेंगे।



चीनी सरकार सहित किसी भी विदेशी सरकार के साथ भारत में हमारे उपयोगकर्ताओं की कोई भी जानकारी किसी से साझा नहीं की गई है। हम भविष्य में हम ऐसा नहीं करेंगे, क्योंकि हमारे लिए उपयोगकर्ता की गोपनीयता सर्वोच्च महत्व रखती हैं। टिकटॉक 14 भारतीय भाषाओं में लोगों के इंटरटेन करने का जरिया है।

जिसके लाखों उपयोगकर्ता, कलाकार, कहानीकार, शिक्षक और कलाकार अपनी आजीविका के लिए निर्भर हैं, जिनमें से कई पहली बार इंटरनेट उपयोगकर्ता आपको बता दें कि सरकार द्वारा बैन लगाने के 12 घंटे के अंदर भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय एप टिकटॉक गूगल प्ले-स्टोर और एपल के स्टोर से हटा दिया गया है।

टिकटॉक को बैन कि जाने के बाद से उनकी तरफ से यह पहला आधिकारिक बयान जारी किया गया है। गूगल प्ले-स्टोर और एपल स्टोर पर टिकटॉक सर्च करने पर कई सारे क्लोन एप के लिंक मिल रहे हैं। गूगल इंडिया ने भी टिकटॉक के हटाए जाने को लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है लेकिन प्ले स्टोर पर टिकटॉक नज़र नहीं आ रहा है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)