Mastodon क्या है? मैस्टोडॉन पर अकाउंट कैसे बनाएं?

Mastodon क्या है? मैस्टोडॉन पर अकाउंट कैसे बनाएं?

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े का ट्विटर अकाउंट पिछले हफ्ते सस्पेंड हो गया। वजह कोई गाली-गलौज नहीं, बल्कि हिटलर के नाज़ी ज़माने की एक वायरल तस्वीर बनी। संजय हेगड़े ने प्रतिरोध की उस तस्वीर को अपने अकाउंट पे डाला हुआ था। लेकिन ट्विटर को समझ का कुछ फेर रहा और उनका अकाउंट उड़ा दिया गया। अपील करने पर ट्विटर ने  अकाउंट को वापस बहाल करने से इनकार कर दिया। कुछ यूजर्स ट्विटर की इस हरकत के विरोध में उतर आए। ट्विटर पर ही ट्विटर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। ट्विटर के अलावा मैस्टोडॉन (Mastodon) नामक एक ओपन-सोर्स सोशल नेटवर्किंग साइट ज्वाइन करने की बात करने लगे।

लोग पूछने लगे कि भला ये मैस्टोडॉन क्या नई बला है? तो ऐसे में हमने सोचा कि आपको भी मैस्टोडॉन (Mastadon) के बारे में जानना चाहिए। ज्वाइन करना या ना करना आपकी मर्जी। तो आइए हम जानते हैं कि मास्टोडॉन आखिर है क्या और इस सोशल नेटवर्किंग साइट पर आप अपना अकाउंट कैसे बना सकते हैं।


मैस्टोडॉन (Mastodon) क्या है?

‘मैस्टोडॉन’ शब्द पर जाएँ तो यह एक जंतु विशेष का नाम है जो दिखने में हाथी जैसा होता था। यहाँ ‘था’ इसलिए लिखा क्योंकि विशाल दांतों वाला यह जानवर डायनासोर की तरह हजारों साल पहले विलुप्त हो चुका है। बहरहाल, हम जिस ‘मैस्टोडॉन’ की बात कर रहे हैं वह एक स्वतंत्र और ओपन-सोर्स सोशल नेटवर्किंग एप्लीकेशन है।

“ओपन सोर्स” सॉफ्टवेयर की दुनिया का एक शब्द है जिसका तात्पर्य ऐसे प्रोग्राम से होता है जिसका सोर्स कोड सार्वजानिक होता है और लोग इसे अपने हिसाब से संशोधित कर सकते हैं।

मैस्टोडॉन (Mastadon) पर यूजर्स खुद अपना सर्वर नोड को होस्ट कर सकते हैं। साथ ही मैस्टोडॉन अलग-अलग यूजर बेस को कई अलग-अलग सर्वर पर संचालित करने की अनुमति देता है। ये सभी सर्वर एक फ़ेडरेटेड सोशल नेटवर्क के रूप में जुड़े हुए रहते हैं, जिससे अलग-अलग सर्वर के यूजर्स एक-दूसरे के साथ बातचीत कर पाते हैं।


टेक्निकल टर्म में समझ नहीं आया तो आपको बता दें कि मैस्टोडॉन हमारे देश के संघीय ढाँचे (फ़ेडरल स्ट्रक्चर) की तरह काम करता है। जैसे हमारे देश में एक केंद्र सरकार होती है और राज्यों में अलग-अलग सरकारें होती हैं। केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के अलग-अलग अधिकार होते हैं, लेकिन ये सब एक संविधान के जरिए आपस में जुड़े होते हैं। ठीक वैसे ही Mastodon पर अलग-अलग सर्वर पर संचालित हो रहे यूजर बेस एक फेडरटेड सर्वर के जरिए आपस में जुड़े रहते हैं।

मैस्टोडॉन की वेबसाइट पर लिखा है – यह सिर्फ एक वेबसाइट नहीं है, यह एक फेडरेशन है, गोया – स्टार ट्रेक (एक हॉलीवुड स्पेस साइंस-फिक्शन फिल्म)। मैस्टोडॉन को चलाने वाले हजारों स्वतंत्र समुदाय एक सुसंबद्ध नेटवर्क बनाते हैं। जहां हर नेटवर्क एक अलग ग्रह की तरह होता है। जैसे हर ग्रह मिलकर एक आकाशगंगा (गैलेक्सी ) बनाते हैं और किसी ग्रह का हिस्सा होने के साथ आप पूरी गैलेक्सी का हिस्सा हो जाते हैं। ठीक वैसे ही Mastodon पर किसी नेटवर्क का हिस्सा होने के नाते यूजर पूरे नेटवर्क का हिस्सा होता है।”

वेबसाइट के अनुसार, “मैस्टोडॉन पर यूजर्स को खुद को गाली-गलौज से बचाने के लिए दुरुस्त व्यवस्था की गई है।”

मैस्टोडॉन (Mastadon) पर अकाउंट कैसे बनाएं:

  • Mastadon ईमेल अकाउंट बनाने जैसा ही है। आप मैस्टोडॉन सॉफ्टवेयर के तहत चलने वाली कई साइटों (जिसे instance कहते हैं) में से किसी एक पर साइन अप कर सकते हैं। कोई भी यूजर मैस्टोडॉन सॉफ़्टवेयर उपयोगकर्ताओं के साथ अलग-अलग instances पर संवाद कर सकता है।

 

  • शुरू करने के लिए आप Mastodon.social/about पर जा सकते हैं। Mastadon का यह flagship instance है और इसमें सबसे अधिक यूजर्स मौजूद हैं। JoinMastodon.org पर बाकी instances की लिस्ट देखी जा सकती है।

 

  • साइन-अप की प्रक्रिया सामान्य है। इसके लिए यूजर नेम, ईमेल और पासवर्ड की जरूरत पड़ेगी। वेबसाइट पर पूरा यूजर नेम @ [Username] @ [MastodonInstance.Domain] के रूप में तैयार होता है।

 

  • Mastadon का डिफ़ॉल्ट लुक Tootsuite कहलाता है और यह Tweetdeck जैसा ही दिखता है। प्रत्येक टूट (Toot) के लिए 500 करैक्टर लिमिट है। जब आप कोई पोस्ट या संदेश डालना हो तो उसे लिखकर बस Toot बटन पर क्लिक करें।

 

  • आप कैमरा आइकन पर क्लिक करके तस्वीर डाल सकते हैं। तस्वीर डालते समय आप नेत्रहीनों के लिए एक विवरण भी साथ में जोड़ सकते हैं। फोटो को NSFW (Not safe for work) के रूप में मार्क करने के लिए भी एक आइकन दिया गया है।

WhatsApp ग्रुप सेटिंग में नया फीचर, यूजर चुन सकेंगे ग्रुप में कौन ऐड कर सकता है और कौन नहीं

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)