डेनमार्क की प्रधानमंत्री ने तीसरी बार टाली शादी, कहा- पहले राष्ट्रहित जरूरी, जानिए क्यों

कोविड-19 महामारी पर एक अंतर्राष्ट्रीय मीटिंग में भाग लेने के लिए डेनमार्क की प्रधानमंत्री मैट फ्रेडरिक्सन (Mette Frederiksen) ने अपनी शादी टाल दी है। यह तीसरा मौका है जब डेनमार्क (Denmark) की प्रधानमंत्री को अपनी शादी स्थगित करनी पड़ रही है। शादी टालने के पीछे प्रधानमंत्री मैट फ्रेडरिक्सन (Denmark PM Mette Frederiksen) ने पहले राष्ट्र का हित जरूरी बताया है।

दरअसल, 42 साल की मैट फ्रेडरिक्सन अपने मंगेतर बो टेनबर्ग के साथ 18 जुलाई को शादी करने वाली थीं। लेकिन, इसी दौरान यूरोपीय यूनियन (ईयू) के राष्ट्र प्रमुखों की मीटिंग है। लिहाजा, मैट और बो परिणय सूत्र में नहीं बंध पाएंगे। मैट पिछले ही साल डेनमार्क की प्रधानमंत्री बनीं थीं। वो देश की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री हैं।


शादी से ज्यादा जरूरी है राष्ट्रहित

अपने मंगेतर की तस्वीर को फेसबुक पर पोस्ट कर लिखा, “मैं इस शानदार इंसान से शादी करने जा रही हूं। मगर जाहिर है ये उतना आसान नहीं है क्योंकि ब्रुसेल्स में एक मीटिंग बुलाई गई है। जुलाई के ठीक उसी शनिवार को जब हमने शादी का फैसला किया था।” उन्होंने आगे लिखा, “मगर मुझे डेनमार्क के हित के लिए जरूरी काम करना है। इसलिए शादी के मंसूबे पर बाद में विचार किया जाएगा। जल्द ही हम शादी के बंधन में बंधेंगे।”

जुलाई में यूरोपीयन यूनियन नेता होंगे आमने-सामने

बता दें कि 17-18 जुलाई को ब्रुसेल्स में आयोजित यूरोपियन देशों के शिखर सम्मेलन में 27 सदस्य देश शिरकत कर रहे हैं। इस बारे में पिछले हफ्ते वर्चुअल मीटिंग में फैसला कर लिया गया था। शिखर सम्मेलन के दौरान नेता कोविड-19 के कारण उपजे हालात का सामना करने पर विचार करेंगे। इसके अलावा यूरोपियन यूनियन के बजट पर भी चर्चा की जाएगी। कोरोना वायरस के कारण महीनों चले लॉकडाउन के बाद पहली बार ऐसा मौका होगा जब शिखर सम्मेलन में नेता आमने-सामने मिलेंगे।


गौरतलब है कि कोरोना वायरस के खतरे के कारण लागू हुए लॉकडाउन के बीच दुनियाभर में कई शादियां टल चुकी हैं। डेनमार्क में महामारी की बात करें तो यहां अब तक 12 हजार 636 मामले सामने आ चुके हैं। 603 लोगों की मौत हुई है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)