दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना से 15 की मौत, रोगियों की संख्या 14 हजार पार

नई दिल्ली। सोमवार को बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस से 15 लोगों की मृत्यु हो गई। इससे पहले शनिवार से रविवार के बीच 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना से 30 व्यक्तियों की मृत्यु हुई थी। दिल्ली में अब तक कुल 14,053 व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना वायरस के कारण मरने वाले व्यक्तियों में सबसे अधिक 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति हैं।

दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 276 हो गई है। शनिवार को कोरोना के 23 रोगियों की मृत्यु हुई और मरने वालों की संख्या 231 तक पहुंच गई। वहीं शनिवार से रविवार तक 30 और लोगों ने कोरोना की बीमारी से दम तोड़ दिया। सोमवार तक 15 और व्यक्तियों की कोरोना से मौत हो गई।


मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, “बीते 24 घंटों में 635 नए कोरोना पॉजिटिव रोगियों का पता लगा है। इसी के साथ दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या अब 14,053 पहुंच गई है।”

मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, “दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस की जांच के लिए कुल 1,74,469 लोगों का टेस्ट किया गया है। इनमें से 14,053 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन कोरोना पॉजिटिव रोगियों में से 6,771 रोगी अभी तक स्वस्थ हो चुके हैं। दिल्ली में फिलहाल 7,006 एक्टिव कोरोना रोगी है।”

दिल्ली सरकार के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के केस के दोगुना होने की दर करीब 11 दिन के आसपास है।


दिल्ली में कोरोना के 187 रोगी आईसीयू में हैं, जबकि उसमें से 29 लोग वेंटिलेटर पर हैं। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील कर दिया है जहां कोरोना के 3 से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं।

भारत कोविड-19 संक्रमण से प्रभावित शीर्ष 10 देशों में शामिल

दिल्ली में अब कुल 88 कोरोना कंटेनमेंट जोन है। इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है। किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता। इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके।

इसके अलावा दिल्ली सरकार ने 3,421 कोरोना पॉजिटिव रोगियों को उनके घर में ही आइसोलेशन में रखा है। दिल्ली सरकार के मुताबिक इन व्यक्तियों को स्वास्थ्य संबंधी कोई बड़ी समस्या नहीं है। सभी को घरों के अंदर आइसोलेशन में रहने को कहा गया है। साथ ही इस दौरान यह लोग लगातार फोन के माध्यम से डॉक्टरों के संपर्क में रहेंगे।


कोरोना वायरस की चपेट में आकर एम्स के पूर्व चिकित्सक की मौत

लॉकडाउन में क्रिकेट खेलने हरियाणा पहुंच गए मनोज तिवारी, सोशल मीडिया पर हुई फजीहत

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)