UP: बांदा में गायों की मौत से गुस्साए ग्रामीणों की डीएम को हटाने की मांग

UP: बांदा में गायों की मौत से गुस्साए ग्रामीणों की डीएम को हटाने की मांग

बांदा | उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में अतर्रा कस्बे की सरकारी गौशाला में लगातार हो रही गायों की मौतों से गुस्साए किसानों ने शुक्रवार को तहसील परिसर में धरना दिया और काफी देर तक हंगामा किया।

किसानों ने जिलाधिकारी को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्हें तत्काल हटाने की मांग की। बुंदेलखंड किसान यूनियन (बीकेडी) की अगुआई में करीब पांच सौ किसानों ने अतर्रा तहसील परिसर में पहले उपजिलाधिकारी कार्यालय का घेराव कर काफी देर तक हंगामा किया और फिर वे वहीं धरने पर बैठ गए। किसान यूनियन के अध्यक्ष विमल शर्मा ने आरोप लगाया कि “यहां के कान्हा पशु आश्रय केंद्र (सरकारी गौशाला) में भूख से तड़प कर पिछले चार दिनों के भीतर 16 गायों की मौत हो गई है।”


किसान नेता शर्मा ने आरोप लगाया, “भूसा की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार का भुगतान न किए जाने से उसने भूसे की आपूर्ति बंद कर दी है, जिसकी वजह से भूख से तड़प कर पिछले चार दिनों में 16 गायों की मौत हो गई और एक माह के भीतर इस गौशाला में 50 से अधिक गायों की मौतें हो चुकी है।”

शर्मा ने कहा, “गायों की असामयिक मौत के लिए बांदा के जिलाधिकारी जिम्मेदार हैं, लिहाजा इन्हें तत्काल प्रभाव से हटाकर जांच की जानी चाहिए।”

किसानों ने मृत गायों को बिना पोस्टमॉर्टम कराए ही दफनाने का भी आरोप लगाया है।


गौरतलब है कि सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर गुरुवार को बांदा आए जिले के प्रभारी मंत्री लाखन सिंह राजपूत ने भी गायों की हो रही असामयिक मौतों पर नाराजगी जाहिर की थी और कहा था कि इसकी उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं और जल्द ही बड़ी कार्रवाई की जाएगी।


UP: सपा के कार्यक्रम में पहुंचकर बसपा सांसद ने चौंकाया, कहा- मैं किसी से नहीं डरता, आगे भी आऊंगा

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)