शबाना आजमी: हिंदी सिनेमाजगत पर करीब 4 दशक तक राज करने वाली अभिनेत्री

शबाना आजमी: हिंदी सिनेमाजगत पर करीब 4 दशक तक राज करने वाली अभिनेत्री

18 सितंबर 1950 को जन्मी शबाना आजमी आज अपना 69वां जन्मदिन मना रही हैं। 1974 में शबाना आजमी ने अपने फिल्मी करियर की शुरूआत श्याम बेनेगल की फिल्म ‘अंकुर’ से की थी। फिल्म अकुंर के हिट होने के बाद शबाना ने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। अपने करियर और फिल्मों के साथ ही वे अपनी शादीशुदा जिंदगी को लेकर भी हमेशा सुर्खियों में रहती थी। पहले से शादीशुदा गीतकार जावेद अख्तर से उनका प्यार शबाना के घर पर ही परवान चढ़ा था।

जानें शबाना आजमी के बारें में 10 बातें

–  शबाना आजमी का जन्म 18 सितबंर 1950 को हैदराबाद में हुआ था। उनके पिता उर्दू के मशहूर शायर व फिल्म गीतकार कैफी थे और मां शौकत आजमी थीं जो एक बेहतरीन थिएटर आर्टिस्ट्स थीं।


–  शबाना ने अपनी शुरुआती पढ़ाई क़्वीन मैरी स्कूल, मुंबई से की। उन्होंने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज से मनोविज्ञान में स्नातक किया है। उन्‍होंने पुणे के फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिटीयूट ऑफ इंडिया (FTII) से एक्टिंग का कोर्स किया है।

–  शबाना ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1974 में श्याम बेनेगल की फिल्म ‘अंकुर’ से की थी। अपनी पहली ही फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

–  फिल्म अकुंर के बाद 1983 से 1985 तक लगातार 3 सालों तक उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। अर्थ, खंडहर और पार जैसी फिल्मों के लिए उनके अभिनय को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया।


–  हमेशा सबजेक्टिव फिल्में करने वालीं शबाना ऐसी अदाकाराओं में से हैं जिन्होंने हिंदी सिनेमाजगत पर करीब 4 दशक तक राज किया है। उन्‍होंने अपने फिल्मी करियर मे कई जबरदस्त फिल्में दी हैं इसलिए उनका नाम बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस की लिस्ट में शुमार है।

–  शबाना आजमी की शादी मशहूर गीतकार और राइटर जावेद अख्तर से 1984 में हुई। जावेद अख्तर पहले से शादी-शुदा थे, लेकिन शबाना के प्यार में उन्होंने अपनी पहली पत्नी हनी ईरानी को तलाक दे दिया।

–  जावेद अख्तर शबाना आजमी के पिता कैफी आजमी से कविताओं की शिक्षा लेने उनके घर जाया करते थे। इस तरह धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे के करीब आए।

–  शबाना की अन्य फिल्मों में अर्थ, निशांत, अंकुर, स्पर्श, मंडी, मासूम, पेस्टॅन जी हैं जिसमें उन्होंने अपने अभिनय की अमिट छाप दर्शकों पर छोड़ी है। हाल ही में उन्होंने ‘नीरजा’, ‘चॉक एंड डस्टर’, ‘जज्बा’ जैसी फिल्मों में काम किया है।

– शबाना आजमी 1997 से 2003 तक राज्यसभा की सदस्य भी रह चुकी हैं। उन्हें राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने नामित किया था।

–  फिल्मों के अलावे शबाना आजमी राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए भी जानी जाती हैं।


18 सितंबर का इतिहास- अंग्रेजों ने ओडिशा के पुरी पर 1803 में कब्ज़ा किया, हिन्दी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री शबाना आज़मी का 1950 में जन्म

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)